July 25, 2024 1:51 AM

पीएम ध्यानमग्न…

लोकसभा चुनाव के 7वें और अंतिम चरण का प्रचार खत्म, 1 जून को 8 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की कुल 57 सीटों पर वोटिंग

कन्याकुमारी। लोकसभा चुनाव के 7वें और अंतिम चरण के तहत शनिवार 1 जून को 8 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की कुल 57 सीटों पर वोटिंग होनी है। इन सीटों पर चुनाव प्रचार गुरुवार को खत्‍म हो गया। प्रचार अभियान के अंत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी तीन दिवसीय आध्यात्मिक यात्रा पर ध्यान लगाने के लिए कन्याकुमारी पहुंचे। प्रधानमंत्री मोदी का कन्याकुमारी में विवेकानंद रॉक मेमोरियल के ध्यान मंडपम में 45 घंटे का ध्यान गुरुवार शाम से शुरू हो गया। वे 1 जून तक ध्यानमग्न रहेंगे। मोदी उसी जगह ध्यान कर रहे हैं, जहां स्वामी विवेकानंद ने भी ध्यान किया था।
लोकसभा चुनाव के प्रचार का शोर थमते ही पीएम मोदी गुरुवार की शाम कन्याकुमारी पहुंचे। उन्होंने सबसे पहले भगवती देवी अम्मन मंदिर में दर्शन-पूजन किया। पूजा के दौरान मोदी सफेद धोती और शॉल पहना था। पुजारियों ने उन्हें विशेष आरती कराई और प्रसाद, शॉल और देवी भगवती अम्मन की फ्रेम में मढ़ी हुई तस्वीर दी। मोदी तिरुवनंतपुरम से कन्याकुमारी हेलिकॉप्टर से पहुंचे थे। यहां से वे ध्यान मंडपम तक फेरी से पहुंचे। पीएम मोदी एक जून की शाम को दिल्ली के लिए रवाना हो सकते हैंष एक जून की शाम को रवाना होने से पहले वे तमिल कवि तिरुवल्लुवर की 133 फीट ऊंची प्रतिमा भी देखने जाएंगे।

राष्‍ट्रीय एकता का संदेश
लोकसभा चुनाव की समाप्ति के बाद भी पीएम मोदी की यह कन्याकुमारी यात्रा एक तरफ जहां तमिलनाडु के प्रति उनकी गहरी प्रतिबद्धता एवं प्रेम को व्यक्त करती है, वहीं इससे यह भी पता लगता है कि विकसित भारत और 2047 के अपने संकल्प को लेकर वह कितने गंभीर और प्रतिबद्ध है। वे कन्याकुमारी में ध्यान लगाकर देशवासियों को राष्ट्रीय एकता का संदेश भी देना चाहते हैं।

यह है वह जगह
विवेकानंद रॉक मेमोरियल वह जगह है जहां स्वामी विवेकानंद ने तीन दिनों तक तपस्या करते हुए विकसित भारत का सपना देखा था। बताया जाता है कि यहां स्वामी विवेकानंद को भारत माता के दिव्य दर्शन हुए थे। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार यह वही स्थान है, जहां देवी पार्वती ने एक पैर पर खड़े होकर भगवान शिव की प्रतीक्षा की थी। यह भारत का सबसे दक्षिणी छोर है, जहां पर पूर्वी घाट और पश्चिमी घाट आपस में मिलते हैं। यह क्षेत्र हिंद महासागर, बंगाल की खाड़ी और अरब सागर का मिलन स्थल भी है। यह स्मारक और मूर्ति दोनों छोटे-छोटे टापुओं पर बनाए गए हैं, जो समुद्र में अलग-अलग और टीले जैसी चट्टानी संरचनाएं हैं। मोदी के इस कार्यक्रम के मद्देनजर कड़ी सुरक्षा की गई है।

75 दिन में 206 चुनावी रैलियां, रोड शो, 80 इंटरव्यू
लोकसभा चुनाव के लिए देशभर में पिछले 75 दिनों के दौरान पीएम ने 206 चुनावी रैलियां, रोड शो और चुनाव से जुड़े अन्य कार्यक्रमों में हिस्‍सा लिया। इस दौरान 80 से ज्यादा मीडिया इंटरव्‍यू भी दिए। प्रधानमंत्री ने 2019 लोकसभा चुनाव में प्रचार के बाद केदारनाथ गुफा में भी इसी तरह ध्यान लगाया था।

jtvbharat
Author: jtvbharat