July 25, 2024 2:46 AM

जोबट कस्बे में दिनदहाडे हुई डकैती की घटना का पर्दाफाश

अलीराजपुर जिले की जोबट तहसील अंतर्गत ज्वेलरी शॉप पर हुई अलीराजपुर पुलिस ने किया खुलासा,05 आरोपी गिरफ्तार, चांदी के आभूषण में प्रयुक्त 02 साईन मोटरसाईकिल भी जब्त।
पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास स्वयं भी मौके पर पहुंचे थे एवं घटनास्थल का निरीक्षण करते हुये अजात आरोपियो की पतासाजी के सम्बन्ध में SIT का त्वरित गठन कर अज्ञात आरोपियों पर 10000 रु का ईनाम घोषित किया था ।
पुलिस महानिरीक्षक इंदौर ग्रामीण श्री अनुराग द्वारा भी प्रकरण की प्रतिदिन समीक्षा की जाकर लगातार आवश्यक निर्देश दिये जा रहे थे। इंदौर ग्रामीण रेंज डीआईजी निमिष अग्रवाल द्वारा भी घटना स्थल का भ्रमण कर एवं फ़रियादी से चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिये थे।
एस.डी.ओ.पी. जोबट नीरज नामदेव के नेतृत्व में थाना प्रभारी जोबट सोनू सिटोले एवं अन्य अधिकारियों द्वारा विभिन्न स्थानों पर दबिश देकर आरोपियों को पकड़ कर लूटे गये जेवर बरामद करने में सफल हुई पुलिस।
पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास द्वारा पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों को इस सफल कार्य के लिए पुलिस महानिरीक्षक इंदौर ग्रामीण को नगद ईनाम की अनुशंसा की जा रही है। साथ ही राजपत्रित अधिकारियों को पुलिस महानिदेशक मध्यप्रदेश की ओर उचित ईमान हेतु भेजी जा रही है अनुशंसा।
आरोपियों से जप्त सामग्रीः डकैती कर ले जाये गये चांदी के आभूषण लगभग 03 किलोग्राम कीमत लगभग 2,14,380 तथा एक सोने की चेन कीमत लगभग 50,000/-रु. घटना में प्रयुक्त 02 होण्डा शाईन मोटरसाईकिल लगभग 1,40000/- रुपये कुल मनुका कीमत लगभग 404380/-रूपये।
अलीराजपुर > थाना जौबट में फरियादिया राधिका सोनी निवासी शिव मार्ग जोबट द्वारा बताया गया कि जब वे प्रतिदिन की तरह अपने निवास स्थान से लगी अपनी ज्वेलर्स शॉप पर बैठी थी तभी सुबह 11:45 बजे तीन मोटरसायकली से आये आठ हथियारबंद आरोपियों द्वारा दुकान में घुसकर फरियादिया को लोहे के फालिये से मारकर घायल कर दिया व फरियादिया की दुकान में रखे चांदी के जैयर व गले में पहनी सोने की चैन लूट कर ले गये। फरियादिया की रिपोर्ट पर तत्काल थाना जोबट में अपराध क्रमांक 281/2024 धारा 394, 395 भादवि की प्रथम सूचना रिपोर्ट पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। अत्यधिक गंभीर व सनसनीखेज प्रकृति की घटना घटित होने से तत्काल पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास ने घटना स्थल का निरीक्षण कर आरोपियों को पकड़ने हेतु निर्देशित किया तथा संपूर्ण घटना में संवेदनशीलता को देखते हुए SIT का गठन कर आरोपियों के संबंध में जानकारी देने वाले पर 10000 रु के ईनाम की उदघोषणा की थी। पुलिस महानिरीक्षक इंदौर ग्रामीण श्री अनुराग द्वारा भी प्रकरण की गंभीरता के कारण प्रतिदिन समीक्षा की जाकर लगातार आवश्यक निर्देश दिये जा रहे थे। इंदौर ग्रामीण रेंज डीआईजी निमिष अग्रवाल द्वारा भी घटना स्थल का भ्रमण कर एवं फरियादी से चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिये थे। पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास द्वारा लगातार घटना का पर्यवेक्षण किया जाता रहा तथा एस.डी.ओ.पी जोबट नीरज नामदेव के नेतृत्व में आरोपियों की गिरफ्तारी व लूटे गये जेवरों की बरामदगी के लिये विशेष अनुसंधान दल झा व पृथक-पृथक 05 टीमों का गठन किया गया। प्रथम टीम में निरी. सोनू सिटोले थाना प्रभारी जोबट, उनि धनराज सेमिया, सउनि दीपक मालवीया, सउनि विक्रम लाखन, सउनि दिनेश नरगांवे, आर. गजेन्द्र, आर. मनीष, आर. निलेश, आर, लेखराम, आर. चेनसिह, आर, जयराम, द्वितीय टीम में निरी. छगनसिह बघेल, प्रआर, सतीश, तृतीय टीम में निरी. राजाराम बडोले, आर. विशाल, आर. प्रदीप, चौथी टीम में उनि. मोहन डायर, सउनि. अजय यादव, प्रआर. दिलीप (सायबर सेल), आर. प्रमोद (सायबर सेल), पांचवी टीम में उनि. योगेन्द्र मण्डलोई, उनि योगेन्द्र सौजतिया एवं आर राहुल (सायबर सेल) की बनाई गई। उक्त पांचो टीमो द्वारा मुखबिर तंत्र, अत्याधुनिक विवेचना की तकनीको का प्रयोग कर पतारसी की गई कि उक्त घटना को ग्राम कदवाल थाना बोरी के कुख्यात फरार आरोपी तथा ग्राम देलवानी के कुख्यात बदमाश की गैंग द्वारा किया गया है। जो तत्काल उक्त आरोपियान की धर पकड़ की कार्यवाही हेतु लगातार टीमों द्वारा विभिन्न स्थानों पर दिन रात दबिश दी गयी, अलग-अलग स्थानों पर रात्रि विश्श्राम किया गया। सभी पांच टीमों की प्रतिदिन के कार्यों की समीक्षा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रदीप पटेल द्वारा की जा रही थी। उक्त पांचो टीमो द्वारा आरोपियान के सम्बन्ध में जानकारी जुटाई जाकर ग्राम कनवाडा में संयुक्तरूप से दबिश दी गई, उक्त दबिश में 04 कुख्यात आरोपी को पुलिस ने घर दबोचा जब इनका आपराधिक रिकार्ड तलाशा गया तो पुलिस को जात हुआ कि इनके न केवल अलीराजपुर अपितु सीमावर्ती जिले तथा प्रदेश के विभिन्न जिलों में आपराधिक रिकार्ड होकर वान्टेड अपराधी हैं। पुलिस ने गिरफ्तारी की कार्यवाही में एक विधि के प्रतिकूल बालक को भी अभिरक्षा में लिया है। उक्त आरोपियों से पुछताछ करते ग्राम बाकानेर के शिक्षक कोलोनी मनावर के एक व्यक्ति को डकैती से प्राप्त किये गये जेवरों को बेचना बताया जो आरोपियों की निशादेही पर चांदी के आभूषण लगभग 03 किलोग्राम कीमत लगभग 2,14,380 तथा एक सोने की चेन कीमत लगभग 50,000/-रु. जब्त की गयी तथा आरोपियों से घटना में प्रयुक्त 02 हान्डा साईन मोटरसाईकिल लगभग 1,40000/-रुपये कुल मधुका कीमत लगभग 404380/-रुपये पुलिस ने बरामद कर लिया है। प्रकरण में अभी 04 आरोपी फरार है जिनके विषय में पुलिस जानकारी जुटा रही है तथा उनको पकड़ने के हर संभव प्रयास किये जाकर शीघ्र ही आरोपीयों की गिरफ्तारी की जावेगी तरीका-ए-वारदातः उक्त समस्त आरोपीयों के विरुद्ध मध्यप्रदेश के साथ साथ अन्य राज्यो में भी लूट, चौरी, डकैती के कई प्रकरण पंजीबद्ध है तथा वांटेड अपराधी है, थाना जोबट के प्रकरण में सभी के द्वारा पूर्व में लगातार घटनास्थल के आसपास रैकी कर योजना बनाते हुये दूसरी गैंग से संपर्क किया तथा फालिया व देशी कट्टे का प्रयोग कर 24 सेकेन्ड में डकैती डाल कर फरार हो गये। उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश के अलीराजपुर अंतर्गत थाना जोबट में दिन-दहाड़े हुई सनसनीखेज चारदात से अभीराजपुर पुलिस ने इसे चुनैती के तौर पर देखा तथा पुनिस अधीक्षक राजेश व्यास द्वारा टीम को सतत रूप से मार्गदर्शन प्रदान करने के कारण केवल 07 दिन में ही संपूर्ण घटना का खुलासा करते हुये 05 आरोपियों को गिरफ्तार कर लूटे गये आभूषण बरामद किये है। पुलिस अधीक्षक द्वारा संपूर्ण टीम को उच्च स्तर से पुरुस्कृत कराने की घोषणा भी की है। आरोपियों से पूछताछ जारी है इस गैंग के अन्य साथियों एवं अन्य वारदातों के संबंध में
आनकारी निकाली जा रही है।

jtvbharat
Author: jtvbharat