July 25, 2024 3:04 AM

पीएससी की अतिरिक्त मुख्य राज्यसेवा परीक्षा 15 अप्रैल से, एक पर्चे और पटवारी परीक्षा की तारीख में टकराव

इंदौर, मप्र लोकसेवा आयोग (पीएससी) ने अब राज्यसेवा 2019 की अतिरिक्त मुख्य परीक्षा आयोजित करने की घोषणा कर दी है। अतिरिक्त मुख्य परीक्षा का आयोजन 15 अप्रैल से 20 अप्रैल तक होगा। प्रत्येक दिन अलग-अलग पर्चे लिए जाएंगे। विवादों और बार-बार परिणाम बदले जाने के कारण चर्चा में रहने वाली इस परीक्षा में फिर से एक आपत्ति आ रही है। पीएससी ने राज्यसेवा 2019 की अतिरिक्त परीक्षा 20 अप्रैल को रखा है। इसी दिन पटवारी चयन परीक्षा भी आयोजित होना है।

MPPSC: पीएससी की अतिरिक्त मुख्य राज्यसेवा परीक्षा 15 अप्रैल से, एक पर्चे और पटवारी परीक्षा की तारीख में टकराव
MPPSC: पीएससी चार वर्षों में एक भी राज्य सेवा चयन के अंतिम स्तर तक नहीं पहुंचा सका है।
MPPSC: पीएससी की अतिरिक्त मुख्य राज्यसेवा परीक्षा 15 अप्रैल से, एक पर्चे और पटवारी परीक्षा की तारीख में टकराव
MPPSC इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मप्र लोकसेवा आयोग (पीएससी) ने अब राज्यसेवा 2019 की अतिरिक्त मुख्य परीक्षा आयोजित करने की घोषणा कर दी है। अतिरिक्त मुख्य परीक्षा का आयोजन 15 अप्रैल से 20 अप्रैल तक होगा। प्रत्येक दिन अलग-अलग पर्चे लिए जाएंगे। विवादों और बार-बार परिणाम बदले जाने के कारण चर्चा में रहने वाली इस परीक्षा में फिर से एक आपत्ति आ रही है। पीएससी ने राज्यसेवा 2019 की अतिरिक्त परीक्षा 20 अप्रैल को रखा है। इसी दिन पटवारी चयन परीक्षा भी आयोजित होना है।
पीएससी द्वारा घोषित शेड्यूल के अनुसार 15 से 18 अप्रैल तक सामान्य अध्ययन के पर्चे होंगे। 19 अप्रैल को हिंदी और 20 को निबंध लेखन का पर्चा होगा। अभ्यर्थियों ने मांग रखी है कि 20 अप्रैल वाले पर्चे की तारीख आगे बढ़ाई जाना चाहिए। दरअसल ऐसे तमाम अभ्यर्थी हैं जो राज्यसेवा 2019 की अतिरिक्त मुख्य परीक्षा में भी भाग ले रहे हैं और जिन्हें पटवारी चयन परीक्षा में भी शामिल होना चाहिए।व्यापमं द्वारा पटवारी चयन परीक्षा पूर्व में घोषित की जा चुकी थी। ऐसे में पीएससी को तारीख का ध्यान रखते हुए परीक्षा कार्यक्रम घोषित करना था। तारीखों में टकराव से होगा ये कि कई अभ्यर्थियों को दोनों में से एक परीक्षा छोड़ना पड़ेगी।
पीएससी चार वर्षों में एक भी राज्य सेवा चयन के अंतिम स्तर तक नहीं पहुंचा सका है। ऐसे में पटवारी चयन का मौका भी दूसरे विकल्प के तौर पर युवाओं के लिए अहम है। आयोग को इस पर संज्ञान लेना चाहिए। अभ्यर्थी आकाश पाठक ने कहा कि क्योंकि यह अतिरिक्त परीक्षा है। कम संख्या में अलग से चुने अभ्यर्थी इसमें भाग ले रहे हैं। ऐसे में पीएससी के तारीख में परिवर्तन करना आसान होगा। उल्लेखनीय है कि राज्यसेवा 2019 का परिणाम एक बार घोषित होकर प्रक्रिया इंटरव्यू तक पहुंच चुकी थी। फिर एक बार रिजल्ट रद किया गया। बाद में फिर से प्रक्रिया करवाने की घोषणा हुआ। मामला कोर्ट में पहुंचा तो मामला फिर उलट गया। अब अतिरिक्त मुख्य परीक्षा करवाई जाएगी।

jtvbharat
Author: jtvbharat